कोर सेक्टर में लगातार 9वें माह सुस्ती

देश के 8 प्रमुख बुनियादी उद्योगों (कोर सेक्टर) की रफ्तार लगातार नौवें माह सुस्त रही. नवंबर 2020 में कोर सेक्टर का उत्पादन 2.6 फीसदी गिरा. इसकी प्रमुख वजह प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स, स्टील और सीमेंट के उत्पादन में कमी रही. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोर सेक्टर ने नवंबर 2019 में 0.7 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की थी.

आंकड़ों के मुताबिक, नवंबर में क्रूड, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स, स्टील, सीमेंट के उत्पादन में गिरावट रही. वहीं कोयला, फर्टिलाइजर व इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर में ग्रोथ दर्ज की गई. नवंबर 2020 में क्रूड का उत्पादन 4.9 फीसदी, प्राकृतिक गैस का 9.3 फीसदी, रिफाइनरी प्रॉडक्ट्स का 4.8 फीसदी, स्टील का 4.4 फीसदी और सीमेंट का उत्पदन 7.1 फीसदी गिरा. दूसरी ओर कोयले का उत्पादन 2.9 फीसदी और बिजली का उत्पादन 2.2 फीसदी बढ़ा. फर्टिलाइजर सेक्टर का उत्पादन 1.6 फीसदी बढ़ा.

आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल-नवंबर के दौरान कोर सेक्टर का उत्पादन 11.4 फीसदी गिरा. पिछले साल की समान अवधि में कोर सेक्टर ने 0.3 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की थी. औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में कोर सेक्टर का योगदान 40.27 फीसदी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *