एसबीआई का मुनाफा घटकर 5196 करोड़ हुआ

SBI takes service charge of 300 crores from zero balance accounts in 5 years: study

नई दिल्ली: मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया का मुनाफा 7 फीसदी घटकर 5196 करोड़ रुपये रहा है. इसके पहले पिछले साल की समान तिमाही में बैंक को 5583 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. एसबीआई की नेट इंटरेस्ट इनकम सुस्त रही है और प्रोविजनिंग में इजाफा हुआ है, जिससे मुनाफा प्रभावित हुआ. हालांकि बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार हुआ है. बैंक की क्रेडिट ग्रोथ और डिपॉजिट ग्रोथ पॉजिटिव रही है.

एसबीआई की नेट इंटरेस्ट इनकम (NII) में सालाना आधार पर 3.7 फीसदी की ही ग्रोथ देखने को मिली और यह 28,819.94 करोड़ रुपये रहा है. वहीं नॉन इंटरेस्ट इनकम में महज 1.5 फीसदी ही ग्रोथ रही है और यह 9246 करोड़ रुपये रहा है. फी इनकम में गिरावट की वजह से अदर इनकम प्रभावित हुई है.

तीसरी तिमाही में बैंक का ग्रॉस एनपीए पिछले तिमाही के 5.28 फीसदी से घटकर 4.77 फीसदी पर रहा है. वहीं,नेट एनपीए पिछली तिमाही के 1.59 फीसदी से घटकर 1.23 फीसदी रहा है.

रुपये में देखें तो बैंक का ग्रॉस एनपीए पिछली तिमाही के 1.25 लाख करोड़ रुपये से घटकर 1.17 लाख करोड़ रुपये रहा है. वहीं नेट एनपीए पिछली तिमाही के 36450 करोड़ रुपये से घटकर 29031 करोड़ रुपये रहा है.

तीसरी तिमाही में एसबीआई की क्रेडिट ग्रोथ सालाना आधार पर 6.73 फीसदी रही है. रिटेल ग्रोथ एडवांस सालाना आधार पर 15.47 फीसदी, SME ग्रोथ 5.62 फीसदी और कॉरपोरेट लोन ग्रोथ 2.23 फीसदी रहा है. लोन बुक में सालाना आधार पर 8.16 फीसदी ग्रोथ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *