कंपनियों के तिमाही परिणामों से तय होगी बाजार की दिशा

The market capitalization (market cap) of seven of the top 10 companies of the Sensex increased by Rs 1,40,430.45 crore last week.

मुंबई: घरेलू शेयर बाजारों में बीते सप्ताह गिरावट के बाद आने वाले सप्ताह में निवेश धारणा कंपनियों के तिमाही परिणामों पर निर्भर करेगी।

गत सप्ताह शिखर को छूने के बाद शेयर बाजरों में साप्ताहिक गिरावट रही। बीएसई का सेंसेक्स गुरुवार को बीच कारोबार में पहली बार 50 हजार अंक के पार पहुँचने में कामयाब रहा। आने वाले सप्ताह में कई दिग्गज एवं बड़ी कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणाम जारी होने हैं। इनमें सेंसेक्स में शामिल एलएंडटी, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक, हिंदुस्तान यूनिलिवर, मारुति सुजुकी, डॉ. रेड्डीज लैब, इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक शामिल हैं। टाटा मोटर्स और इंडियन ऑयल जैसी सेंसेक्स के बाहर की कई महत्वपूर्ण कंपनियों के परिणाम भी 25 जनवरी से 30 जनवरी के बीच आने हैं। बाजार की दिशा तय करने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

आगामी 01 फरवरी को संसद में पेश होने वाले बजट से पहले निवेशक सावधानी बरत सकते हैं। साथ ही गुरुवार को मासिक सौदा निपटान के कारण भी आने वाले सप्ताह में बाजार पर दबाव रह सकता है।

बीते सप्ताह सेंसेक्स 156.13 अंक यानी 0.32 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट के साथ 48,878.54 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 61.80 अंक यानी 0.43 फीसदी लुढ़ककर सप्ताहांत पर 14,371.90 अंक पर बंद हुआ। मंगलवार और बुधवार को छोड़ शेष तीन दिन बाजार में गिरावट रही।
मझौली और छोटी कंपनियों में बिकवाली अधिक हुई। बीएसई का मिडकैप 0.75 प्रतिशत और स्मॉलकैप 1.39 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट में शुक्रवार को क्रमश: 18,761.87 अंक और 18,422.05 अंक पर बंद हुये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *