आर्थिक और वाहन बिक्री के आंकड़े,आरबीआई की बैठक के नतीजे तय करेंगे बाजार की दिशा

मुंबई: बीते सप्ताह निवेशकों का रूझान कमोबेश सकारात्मक रहा जिससे घरेलू शेयर बाजार में साप्ताहिक बढ़त दर्ज की गयी। निवेशक अगले सप्ताह बाजार में निवेश करने से पहले भारतीय रिजर्व बैंक की बैठक के नतीजे, वाहन बिक्री के आंकड़ों,कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दैनिक मामलों और कोरोना वैक्सीन से जुड़ी खबरों पर नजर बनाये रखेंगे।

बीते सप्ताह शेयर बाजार में साप्ताहिक बढ़त दर्ज की गयी और इस दौरान बीएसई का सेंसेक्स 267.47 अंक यानी 0.61 प्रतिशत की साप्ताहिक बढ़त के साथ 44,149.72 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 109.90 अंक यानी 0.85 प्रतिशत उछलकर 12,968.95 अंक पर पहुंच गया।

समीक्षाधीन अवधि में दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा मंझोली और छोटी कंपनियों को अधिक लाभ हुआ। निवेशकों ने पूरे सप्ताह के दौरान छोटी और मंझोली कंपनियों में जमकर पैसा लगाया जिससे बीएसई का मिडकैप 478.15 अंक यानी 2.91 प्रतिशत बढ़कर 16,914.65 अंक पर पहुंच गया। स्मॉलकैप भी 692.60 अंक यानी 4.28 प्रतिशत की तेजी के साथ 16,875.15 अंक पर पहुंच गया।

बाजार विश्लेषकाें का कहना है कि विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुझान, कच्चे तेल की कीमतें, रुपये की चाल और शुक्रवार को जारी आर्थिक आंकड़ों का असर भी शेयर बाजार पर दिखेगा। अगले सप्ताह सोमवार को गुरुनानक जयंती के अवसर पर शेयर बाजार में कारोबार बंद रहेगा इसलिए मंगलवार से बाजार में सामान्य कारोबार शुरु होना है।

अगले सप्ताह आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय बैठक होनी है, जिसकेपरिणाम चार दिसंबर को सामने आयेंगे। अगले सप्ताह 30 नवंबर से एक दिसंबर तक तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक की बैठक होनी है, जिसका प्रभाव शेयर बाजार पर रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *