खुद अपनी दवाएं तैयार करेगा भारत

नई दिल्ली: सरकार ने दवाओं के मामले में चीन और दूसरे देशों पर निर्भरता कम करने के लिए कमर कसने का फैसला किया है। गौरतलब है कि चीन में कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए हालात की वजह से सरकार को यह फैसला करना पड़ा है। हेल्थ वर्कर्स और मेडिकल विशेषज्ञ एक अर्से से सरकार से चीन पर दवाओं के मामले में निर्भरता कम करने को कह रहे थे।

मौजूदा हालात के कारण चीन में दवाओं के उत्पादन पर असर पड़ गया है। इसके कारण भारत को वहां से कई जरूरी दवाएं नहीं मिल पा रही हैं। भारत फिलहाल पैरासिटामोल से लेकर कई अहम एंटी-बायोटिक्स तक के लिए चीन पर निर्भर है।

सरकार ने फैसला किया है कि अब देश को जरूरी दवाओं के मामले में आत्मनिर्भर बनाया जाए। इस मामले में हाल में ही नीति आयोग, स्वास्थ्य मंत्रालय और कई विभागों की बैठक हुई। यह तय किया गया कि देश में नए फार्मा पार्क्स बनाने के लिए दवा कंपनियों को कई तरह की सुविधाएं और रियायतें दी जाएंगी। जरूरत पड़ने पर पर्यावरण से जुड़े नियमों में रियायत देने पर भी विचार किया गया। इसमें यह भी तय किया गया कि राज्यों से फार्मा पार्क्स के लिए दवा कंपनियों को जल्द से जल्द जमीन देने को कहा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *